Friday, May 21, 2010

वह दुबला पतला और एक पैर से अपाहिज था..

वह दुबला पतला और एक पैर से अपाहिज था..लेकिन एक ऐसे शातिर गैंग का सदस्य था जो यूपी सहती पुरे एनसीआर में लूटपाट कि वारदातों को अंजाम देता था...इस गैंग में अपाहिज मनवीर उर्फ़ मुखिया का रोल भी मुख्य ही होता था..वह बैंक में घुसकर रेकी करता और शिकार कि पहचान कर उसकी सूचना अपने दो साथियों को देता..बैंक के नजदीक ही खड़े बाकि दो सदस्य बाईक पर आते और पिस्तोल कि नोक कपर उसे लूटकर फरार हो जाते...ये लोग अ़ब दिल्ली को अपना ठिकाना बनाने कि तैयारी में थी कि एक गुप्त सूचना के बाद बाहरी जिला पुलिस इन्हें दबोच लिया..पुलिस इन्हें गिरफ्तार कर दिल्ली नोएडा पिलखुआ मेरठ गाज़ियाबाद और बिलासपुर में हुयी वारदातों के ११ मामलों सुलझा लिया है... वी-ओ-1 बाहरी जिला पुलिस के हत्थे चढ़े दुबले पतले और विकलांग को देख किसे इस पर दया न आ जाये....लेकिन इसके कारनामे सुनेगे तो आप भी हैरान हो जायेंगे....यह एक ऐसे गैंग का सदस्य है जिसका आतंक यूपी सहित पुरे एनसीआर में था...और बाहरी और उत्तर पश्चिम दिल्ली में भी वारदातों को अंजाम देने कि तैयारी में था..लेकिन पुलिस ने एक सूचना के बाद जाल बिछाया और रोहिणी सेक्टर १६ में मुठभेड़ के बाद दबोच लिया..मनवीर उर्फ़ मुख्या नाम के इस विकलांग कि भूमिका भी इस गैंग में मुख्य ही थी...यह अपनी इस हालत का फायदा भी खूब उठता..बैंक में घुसकर यह ऐसे लोगों पर नजर रखता जो ज्यादा से ज्यादा पैसा निकालकर ले जाते....और यह सूचना अपने दो साथियों सोमपाल उर्फ़ सोनू और विकास उर्फ़ सतबीर को देते..इस सूचना के बाद दोनों साथी रिवाल्वर कि नोक पर उन्हें लूट लेते...पुलिस इन्हें गिरफ्तार कर दिल्ली नोएडा पिलखुआ मेरठ गाज़ियाबाद और बिलासपुर में हुयी वारदातों के ११ मामलों सुलझा लेने का दावा किया है...पुलिस का कहना है कि मुखिया कि विकलांगता और उसके छोटे कद और दुबले शरीरी को देखा कोई इस पर शक नहीं करता था...यह गैंग इस एंडी वेयर गाड़ी पर चलता और हाईवे पर भी आने जाने वालों को लिफ्ट देकर लूट लेता था... बाईट----छाया शर्मा ( डीसीपी, बाहरी जिला ) ( यह बैंक में घुसकर रेकी करता और इसकी सूचना बहार खड़े अपने दो अन्य साथियों को इशारे से दे देता..इसके दुबले पतले शारीर को देखकर कोई इस पर शक नहीं करता था... वी-ओ-2 जरूरत पड़ने पर ये फायरिंग करने से भी नहीं चुकाते..चाहे वह फिर कोई शिकार हो या पुलिस...वारदात के लिए ये चोरी कि गाड़ियाँ ही इस्तेमाल करते..पुलिस ने इनके कब्जे से दो देशी पिस्तोल और एक रीवोल्वर चार मोटर साईकल , एक एंडीवियर गाड़ी और ७० हज़ार रूपये नगद बरामद किये है...यह एंडी वेयर कार भी इन्होने लूट के पॉँच लाख रूपये में से तीन लाख रूपये में खरीदी थी...लूट के बाद ये खूब ऐश करते..ये सभी गाज़ियाबाद में रहते लेकिन लूट कि हर वारदात के बाद दिल्ली के रेड लाइट एरिया जीबी रोड जरूर जाते.... बाईट---छाया शर्मा ( डीसीपी, बाहरी जिला ) ( लूट कि हर वारदात के बाद दिल्ली के रेड लाइट एरिया जीबी रोड जरूर जाते....पॉँच लाख रुपये कि एक लूट के वारदात के बाद इन्होने ५० हज़ार रूपये जीबी रोड पर ही लूटा दिए...) वी-ओ-3 यूपी और एनसीआर में खुद को पहचान लिए जाने के बाद ये दिल्ली में वारदातों को अंजाम देने कि तैयारी में थे...क्योंकि यहाँ इनका कोई अपराधिक रिकॉर्ड नहीं था...सोमपाल और सतबीर पर तो कई मामले दर्ज है लेकिन विकलांग मनवीर उर्फ़ मुखिया पर कितने मामले है पुलिस इसकी जाँच कर रही है...मुखिया एक पैर से विकलांग ही नहीं था बल्कि ९ वें क्लास तक ही पढ़ा है...शायद यही मजबूरी और मौज करने के उसके शोक ने इस इस शातिर गैंग का सदस्य बना दिया...लेकिन अब यह कानून के शिकंजे में है... ANIL ATTRI DELHI
video

2 comments:

  1. I am no longer sure the place you are getting your info, but great topic.
    I needs to spend some time learning more or figuring out more.
    Thank you for fantastic information I was in search of this information for my
    mission.

    My blog post; the full article

    ReplyDelete
  2. Hmm it looks like your blog ate my first comment (it was
    super long) so I guess I'll just sum it up what I wrote and say, I'm thoroughly enjoying your
    blog. I as well am an aspiring blog blogger but I'm still new to the whole thing. Do you have any tips and hints for inexperienced blog writers? I'd
    really appreciate it.

    Also visit my page; website
    my web site > chatroulette

    ReplyDelete