Sunday, October 5, 2014

झारखंड के पूर्व मंत्री योगेंद्र साव को दिल्ली से गिरफ्तार...........................

 दिल्ली क्राइम ब्रांच और झारखंड पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन चला कर आज बडी कामयाबी हासिल की है। ज्वाइंट ऑपरेशन कर झारखंड के पूर्व मंत्री योगेंद्र साव को दिल्ली से गिरफ्तार kiyaa । साव पर नक्सलियों से रिश्ते रखने का आरोप है। झारखंड पुलिस
अनिल अत्री दिल्ली ...........

को काफी दिनों से पूर्व मंत्री की तलाश थी। इसके लिए झारखंड पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चला रखा था और राजू नाम के एक शख्स को कुछ दिनों पहले ही गिरफ्तार किया था। पूछताछ में राजू ने कई अहम खुलासे किए और उसकी निशानदेही के आधार पर बडी कामयाबी हासिल की। साव पहाड़ गंज के एक अस्पताल में रुका हुआ था जहा से वह दिल्ली के ही शकूरपुर में किसी से मिलने आया और दिल्ली पुलिस और झारखंड पुलिस ने अरेस्ट कर लिया .. इसके लिए झारखंड पुलिस ने दिल्ली क्राइम ब्रांच से मदद मांगी थी। साव को आज दोपहर 2 बजे बाद दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया जहा से साव को झारखंड पुलिस को तीन दिन के ट्रांजिस्ट ररिमांड के लिए सौपा गया ....  आरोपी साव को झारखंड आज शाम को ले जाया जाएगा। साव पर नक्सलियों से सांठ-गांठ बनाए रखने और उनकी मदद करने का आरोप है।   नक्सलियों से संबंध रखने के आरोप में साव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। पुलिस कई दिनों से उनकी तलाश में थी। नक्सली ग्रुप झारखंड टाइगर्स से कथित तौर पर संबंध रखने का आरोप लगने के बाद हाल ही में योगेंद्र साव ने हेमंत सोरेन कैबिनेट से इस्तीफा दिया था। 

कौशिक इन्कलेव में शराब की दूकान खुलने का विरोध ..

कौशिक इन्कलेव में शराब की दूकान खुलने का विरोध ..
एंकर - दिल्ली के बुराड़ी विधानसभा के कौशिक इन्क्लेव में शराब की सरकारी दूकान के खुलने से पहले ही दूकान के आगे लोगो ने धरना दे दिया है और नारेबाजी व् विरोध जारी है ..महिला पुरुष सभी इसका विरोध कर रहे है .. पहले यहा कोई शराब की दूकान नहीं थी और यहा अब बस स्टेंड के पास निर्माणाधीन सरकारी अस्पताल के सामने ये सरकारी शराब की दुकान खुलने जा रही है.. सडक के दूसरी तरफ इस शराब की दूकान के सामने एक छोटा मन्दिर भी है .. मन्दिर व् स्कूल के पास शराब की दुकान नहीं खोली जा सकती पर यहा विभाग ने इस छोटे मन्दिर को शायद मंदीर  नही माना और लोग इसका विरोध कर रहे है ..इलाके के विधायक को उसके एरिया में शराब की दुकान खुलने से पहले सूचित किया जाता है इस पर विधायक का कहना है की उसको सूचित नहीं किया गया .. अब यहा के स्थानीय निवासियों का कहना है की किसी भी हाल में शराब का ठेका यहा नहीं खुलने दिया जाएगा ..
वी ओ 1
शराब का ठेका नहीं खुलेगा ....नही खुलेगा .. के नारे लगाते ये लोग है बुराड़ी विधानसभा की कौशिक इनक्लेव के निवासी .. यहा इनकी पूरी RWA धरने पर बैठी है और साथ में महिलाये भी आई है .. यहा शराब का ठेका खुलने का सिसिला उठा तो यहा के लोग गुस्से में हो गये .. ठेका अभी खुला नहीं बल्कि एक दूकान को ठेके के लिए किराए पर लिया गया है और यहा के लोगो का कहना है की  ठेके का प्रस्ताव यहा के लिए पास हो गया है यहा बसस्टेंड है ..सडक के दुसरो तरफ सामने मात्र सौ फीट पर मन्दिर व् निरामानाधीन अस्पताल है .. इस कारण यहा कानूनी रूप से ठेका नही खुल सकता पर पता नहीं अधिकारियों ने कैसे इसे पास कर दिया .. अब स्थानीय लोग इस शराब के ठेके के लिए ली गई दुकान के सामने धरने पर बैठ गये है और कहना है की किसी भी हाल में वे ठेका नहीं खुलने देंगे . यहा से महिलाओं का आना मुशकिल हो जाएगा .. बसस्टेंड पर महिलाये खड़ी भी नहीं हो पाएगी इसलिए यहा शराब का ठेका नही खुलना चाहिए .
बाईट - स्थानीय निवासी
बाईट - स्थानीय महिला
बाईट - स्थानीय निवासी
वी ओ 2
ठेका खुलने से पहले एरिया के विधायक को सूचित किया जाता है इसलिए यहा के लोगो ने विधायक को भी फोन कर धरने पर बुलाया .. विधायक ने खुद हैरानी जताई और कहा की हैरानी है की उन्हें सूचना ही नहीं इससे पहले भी एक बार हो चूका है जब सरकारी ठेका खुल रहा था और उन्हें सूचना नहीं दी गई थी .अब दूसरी बार भी इनके साथ ऐसा हुआ है इसको लेकर वे कल ही कमिश्नर साहब से मिलेगे .. और विधायक ने कहा की ठेके की यहा कोई जरूरत नहीं वे ठेका नहीं खुलने देंगे ..
बाईट - संजीव झा विधायक बुराड़ी
वी ओ 3
अभी स्थानीय लोग गुस्से में है और धरने पर बैठे है और इनका कहना है की किसी भी हाल में यहा शराब का ठेका नहीं खुलने दिया जाएगा ... अब देखने वाली बात होगी की अधिकारी अब क्या कदम उठाते है ..................
अनिल अत्री दिल्ली ..........

Monday, September 29, 2014

केन्द्रीय मंत्री नरेंदर सिंह तोमर ने रोहिणी ESI अस्पताल में की सफाई ..


केन्द्रीय मंत्री नरेंदर सिंह तोमर ने रोहिणी ESI अस्पताल में की सफाई ..
एंकर - मंत्री जी रोहिणी में आज गये थे सफाई करने पर लोगो की शिकायते सुननी पड़ी ... मंत्री जी के आने से पहले गंदगी हटाकर सही


दिखाने की कोशिश की तो लोगो ने मंत्री साहब को मोबाइल में गंदगी की फोटो भी दिखाई और अस्पताल की जमकर शिकायत की ..आज स्वच्छ भारत अभियान मुहीम के तहत केन्द्रीय मंत्री नरेंदर सिंह तोमर दिल्ली के रोहिणी में ईएसआई (ESI) अस्पताल में सफाई करने पहुंचे ..भारत के खुद श्रम एवं रोजगार व स्टील एंड माँइंज मंत्री नरेंदर सिंह तोमर ने हाथ में झाडू लेकर सफाई की .. मंत्री साहब ने मौजूद लोगो से बात की तो लोगो ने शिकायत की और कहा की आज ये अच्छी सफाई आपके आने से हुई है इससे पहले यहाँ सब कुछ बदहाल था और आपके जाने के बाद फिर यही हाल हो जाएगा .. मंत्री महोदय ने अस्पताल को सफाई का काम प्राथमिकता से करने का निर्देश भी दिया और इस मुहीम में लोगो से सहयोग मांगा ............
वी ओ 1
ये है दिल्ली की रोहिणी का ESI अस्पताल .. यहाँ ESI होल्डर्स इलाज करवाने आते है .. इसमें आज भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार व स्टील एंड माँइंज मंत्री नरेंदर सिंह तोमर पहुंचे और अस्पताल में कर्मचारियों से बातचीत की ..पूरे अस्पताल का राउंड भी लिया .. देश के श्रम एवं रोजगार व स्टील एंड माँइंज मंत्री नरेंदर सिंह तोमर ने खुद हाथ में झाडू लगाकर यहा सफाई की ..  मंत्री साहब ने सभी से इसमें सहयोग माँगा ... और पब्लिसिटी स्टंट के प्रश्न पर कहा की ये पब्लिसिटी स्टंट नहीं इसमें सभी का सहयोग चाहिए .. ये एक मुहीम है ..
बाईट - नरेदर सिंह तोमर श्रम एवं रोजगार व स्टील एंड माँइंज मंत्री भारत सरकार
वी ओ 2
यहाँ मंत्री साहब आये थे सफाई करने पर लोगो की काफी शिकायते भी सुननी पड़ी .. लोगो ने मोबाइल में खींचे गये गंदगी के फोटो व् विडियो भी मंत्री साहब को दिखाए ..  साथ ही बताया की मंत्री साहब के दौरे को देखकर कुछ सुधार किया गया है वरना यहा काफी बदहाल था .. लोगो ने सभी शिकायते की .. इस प्रश्न पर मंत्री साहब ने अस्पतालों के कम होने की समस्या बताई .. और कहा की मरीजो की संख्या ज्यादा है इससे बदहाल होना स्वाभाविक है ....
बाईट - नरेदर सिंह तोमर श्रम एवं रोजगार व स्टील एंड माँइंज मंत्री भारत सरकार
वी ओ 3
अब आने वाला वक्त बतायेगा की ये मुहीम कितना रंग लाएगी ये लम्बे वक्त तक चलेगी या ठंडे बसते में चली जायेगी ...........................
.............
अनिल अत्री दिल्ली ............... 

Sunday, September 28, 2014

दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 22 में श्री अग्रसेन इंटरनैशनल अस्पताल का भूमि पूजन

एंकर - दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 22 में श्री अग्रसेन इंटरनैशनल अस्पताल का भूमि पूजन किया गया .. साथ में महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा का अनावरण किया गया ..  अस्पताल पर करीब 500 करोड़ की लागत आएगी .. दो एकड़ में इस अस्पताल का निर्माण कार्य किया जा रहा है ... 500 बैड का अति आधुनिक सुविधाओं वाला अस्पताल होगा ..साथ ही हैली पेड तक की सुविधा होगी ..  इसका भूमि पूजन व् प्रतिमा अनावरण केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने किया .. राजनाथ सिंह ने महाराजा अगर्सेंन को अवतार मानते हुए उनका गुणगान किया ..  साथ ही कहा की देश में भाजपा सरकार आते ही नई नई योजनाये आई है और जिसके सबकी न्यूनतम आवश्कताए पूरी हो साथ ही आने वाले तीस से पैतीस सालो में भारत की GDP चाइना व् अमेरिका से भी कही ज्यादा होगी ...........
वी ओ 1
भारत को बढती जनसंख्या से घबराने की जरूरत नहीं बल्कि जब आने वाले तीस  से पैतीस सालो में भारत की जनसंख्या जब चीन से भी ज्यादा हो जायेगी तो हमारा GDP भी तीस से पैतीस  सालो में चाइना व् अमेरिका से भी ज्यादा होगा .. ये बात कोई आम आदमी नहीं बल्कि भारत के गृह मंत्री कह रहे है ... साथ ही राजनाथ सिंह ने कहा की जब से भाजपा आई नई नई योजनाये भी आई है ..सभी को लाभ मिले और पूरा प्रयास है की सभी की न्यूनतम आवश्यकताए पूरी हो ..ये सब बाते रोहिणी में एक कार्यक्रम के दौरान राजनाथ सिंह ने कही ..
बाईट - राजनाथ सिंह ( गृह मंत्री भारत सरकार )
वी ओ 2 अपने भाषण में राजनाथ सिंह ने काफी देर तक लगातार वैश्य समाज का गुणगान किया ..साथ ही महाराजा अग्रसेन को अवतार मानते हुए उनकी कथाये तक लोगो को सुनाई .. आज राजनाथ सिंह रोहिणी सेक्टर 22 में श्री अग्रसेन इंटरनैशनल अस्पताल के भूमि पूजन में शामिल होने आये थे .. आज इस कार्यक्रम में भूमि पूजन के साथ साथ महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा का अनावरण किया गया ..  अस्पताल पर करीब 500 करोड़ की लागत आएगी .. दो एकड़ में इस अस्पताल का निर्माण कार्य किया जा रहा है ... 500 बैड का अति आधुनिक सुविधाओं वाला अस्पताल होगा ..
बाईट - धनश्याम ( प्रेसिडेंट श्री अग्रसेन इंटरनैशनल अस्पताल संस्था )
बाईट - अशोक अगरवाल ( वाइस प्रेसिडेंट श्री अग्रसेन इंटरनैशनल अस्पताल संस्था )
वी ओ 3
अब ये वैश्य समाज की तरफ से बना एक बड़ा अस्पताल होगा ..और अगले डेढ़ साल में पूरा बनने का टार्गेट रखा गया है ... अस्पताल अंतरराष्ट्रीय सुविधाओं वाला होगा जिससे कई रोगों के लिए विदेश जाना पड़ता है उनका इलाज दिल्ली में ही संभव हो पायेगा .....................
........
अनिल अत्री दिल्ली ...........

Thursday, September 25, 2014

दिल्ली में महिलाओं के सुहाग की लम्बी उम्र के लिए फेस्टिवल करवा चौथ की तैयारिया शुरू

दिल्ली के फैशन स्टूडियो ने करवा चौथ के व्रत की नजदीकी देखते हुए अभी से अपने डिजाइन बाजारों में उतारने शुरू कर दिए है .. महिलाये भी अपने बजट के हिसाब से अभी से इन्हें खरीद भी रही है .. पहले की तुलना में करवा चौथ का व्रत आजकल महिलाये ज्यादा धूमधाम से मनाती है ... कई दिन पहले महिला संगठन व् निजी तौर पर भी महिलाये करवा चौथ के कार्यक्रम तक आयोजित करती है .. इसी लिए फैशन डिजानर भी अलग अलग तरह के नए नए दिजाईंन बाजार में उतार रहे है ... और दिल्ली के फैशन स्टूडियो डिजाइनर डेन ने ये फैशन शो आयोजित कर नए नए कलेक्शन पेश किये .. कलेक्शनो से महिलाये देखते ही आकर्षित हो रही थी .. लाला और गुलाबी  रंग में कलेकसन ज्यादा पेश किये गये .. डिजाइनर का मानना है की लाल रंग सुहाग का प्रतीक है और करवा चौथ सुहाग के लिए व्रत रखा जाता है इसलिए लाल रंग की सबसे ज्याद डीमांनड होती है ..
बाईट - सना ( फैशन डिजाइनर )
वी ओ 2
रैंप पर मॉडल्स ने ये  नए नए डिजाइन पेश किये .. मॉडल्स लाल रंग के दिजाइनो के साथ साथ कुछ दुसरे रंग भी पहनकर रेम्प पर आई और महिलाओं ने मॉडल्स के बीच बीच जाकर भी ये डिजाइन देखे ..  इस कलेक्सन के तहत डिजाइनर लेडिज शूट , साडी व् लहेंगा लांच किया .. फैशन डिजाइनर कैलाश ने कहा की उनके डिजाइन हर क्लास के लोग पहन  सकते है ..इनमे हर तरह के वर्क का इस्तेमाल किया जाता है जिसे आजकल इंडो वेस्टर्न ड्रेसिज के तौर पर जाना जाता है ..दिल्ली के डिजाइनों में जल्दी ही  3 D ( थ्री डी ) वर्क का यूज होगा .. साथ ही नए कटवर्क में पारसी व कसाब एम्ब्रायडरी का यूज करेगे ..
बाईट - कैलाश चांदना ( फैशन डिजाइनर )
वी ओ 3
अब डिजाइनर महिलाओं के व्रत करवा चौथ व दुसरे त्यौहारों को देखते हए नए नए डिजाइन बाजार में उतार रहे है ... और महिलाओं को बाजारों में तरह तरह के डिजाइन देखने व सलेक्ट करने का मौका मिलेगा .................................

अनिल अत्री दिल्ली ..................
दिल्ली में महिलाओं के सुहाग की लम्बी उम्र के लिए फेस्टिवल करवा चौथ की तैयारिया अभी से शुरू .... इस साल करवा चौथ के लिए डिजाइनरो ने नए नए डिजाइन मार्किट में उत्तार दिए है .. दिल्ली की मशहूर फैशन डिजाइनर तिकड़ी सना , दीपिका कैलाश ने नवरात्र में करवा चौथ प्रीमियम कलेक्शन लांच किया .. फैशन शो के माध्यम से नए नए कैलेकशंन पेश किये गये .. फैशन शो में मॉडल्स नए नए डिजाइनों में रेम्प पर आई ...

देश की पहली किसान मण्डी का शिलान्यास ..छे महीने के भीतर होगा उद्घाटन ..किसान सीधे बेचेगे अपनी फसल ..

1 देश की पहली किसान मण्डी का शिलान्यास ..छे महीने के भीतर होगा उद्घाटन ..किसान सीधे बेचेगे अपनी फसल ..
आजादपुर मण्डी का भी होगा और विकास आजादपुर मण्डी को पैसे की कमी नहीं आने दी जायेगी वो अपने तरीके से चलेगी ये नइ अपने तरीके से ---केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह
अनिल अत्री
किसान अब अपना उत्पाद सीधे उपभोक्ता को बेच सकेगा --इस योजना पर भारत सरकार  तेज़ी से काम कर रही है --आज दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री ने देश की पहली किसान मंडी का शिलान्याश किया --दिल्ली की यह किसान मंडी के आने से किसान और उपभोकताओं के बीच की कड़ी यानी बिचौलियों का दखल लगभग ख़त्म  जाएगा। सरकार का दावा है की इससे किसानो को उसकी फसल की ज्यादा कीमत मिलेगी और महंगाई पर भी काफी हद तक लगाम लगेगी --

2 दिल्ली में फल और सब्जियों को एपीएमसी एक्ट से बहार कर सरकार ने साफ़ कर दिया की वह किसानो और उपभोक्ताओं को यह आज़ादी दे देगी की वे कहीं भी अपना माल बेच सकते है और खरीद सकते है --आज सरकार ने इस दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए दिल्ली के अलीपुर में देश की पहली किसान मंडी का उद्घाटन किया --केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा की  करीब 6 महीने में यह मंडी काम करना  शुरू कर देगी --देश का किसान समूह के जरिये अपनी फसल सीधे यहाँ बेच सकता है --कृषि मंत्री ने एक ट्रक को हरी झड़ी दिखकर रवाना भी किया -

3 दिल्ली में इस तरह किसान मंडी का पहला प्रयोग दिल्ली के Alipur  इलाके में हो रहा है --इसका फायदा उत्तरी भारत के किसानो को ही नहीं दिल्ली की जनता को भी होगा --नरेला इलाके में ही सबसे ज्यादा गाव और किसान है --जी टी करनाल रोड होने के चलते किसानो की पहुंच भी यहाँ आसानी से हो सकेगी --दावा है की इस किसान मंडी के पूरी तरह संचलन के बाद दिल्ली और एनसीआर के उपभोकताओं को सस्ती सब्जियां मिलेगी --

4  इस मौके पर भाजपा के एरिया  सांसद उदितराज विधायक नीलदमन खत्री ने सभी का धन्यवाद किया ...जाहिर है इस मंडी का मुकबला दिल्ली में स्थित एशिया के सबसे बड़ी मंडी आज़ाद पर सब्जी मंडी से होगा --दोनों मंडियों में काम का तरीका बिलकुल अलग है --ऐसे में देखना दिल्चप्स होगा ही इस मंडी की शुरुआत से किसान को कितना फायदा होगा और उपभोकताओं को कितना ---

Tuesday, September 23, 2014

आजादपुर थोक मण्डी में आज आलू 35 से 50 रूपये किलो आया है जो रीटेल में 55 से सत्तर (70) रूपये किलो बेचे जायेगे

एंकर - नवरात्र व दुसरे त्योहार जैसे जैसे नजदीक आ रहे है सब्जिया महेंगी होनी शुरू हो चुकी है ... प्याज के बाद अब आलू के भाव अब आसमान छूने
वी ओ 1
ये है एशिया की जानी जानी सब्जी मण्डी आजादपुर सब्जी मण्डी यहा आज जो आलू आया है उसका भाव इतना ज्यादा की कल रिटेल में आलू के भाव ऐसे होंगे की आलू आम आदमी की पहुंच से बाहर होगा ..अब लोग आलू किलो में नही बल्कि ग्राम में खरीदेगे ... आज जो आलू आजादपुर मण्डी में आया उसका भाव भाव बढ़िया आलू 50 रूपये किलो तो पुराना आलू 35 रूपये किलो है जो कल से रीटेल मार्किट में 55 से 70 रूपये किलो होगा जो आम आदमी की पहुंच से बाहर व् बजट को बिगाड़ने वाला होगा ..साथ ही मण्डी में सात परसेंट मण्डी में एक्स्ट्रा लिया जाता है जिससे भाव और ज्यादा बढ़ जाता है ..
बाईट -  पकंज ( आलू व्यापारी )
बाईट - नरेश जैन ( आलू व्यापारी ) पहचान - सफेद कुरते में .साथ में नाम बाईट में बोला है ...
बाईट - प्रशांत ( आलू व्यापारी ) पहचान - t shirt में ..नाम बोला है ..
वी ओ 2
अब आलू ही नहीं दूसरी सब्जिया खीरा लोकी भी काफी महेंगी होती जा रही है .. अब लोग त्योहार के अवसर पर सब्जियों का स्वाद नहीं चख पायेगे ..  या कम सब्जी से ही संतोष करना पड़ेगा ... लोकी पच्चीस से तीस तो खीरा बीस से बाईस रूपये किलो है जो रीटेल में चालीस रूपये किलो है ..
बाईट - श्रवण कुमार ( मण्डी व्यापारी - पहचान - सफेद कुरते में और बाईट में नाम बोला भी है )
बाईट - मण्डी व्यापारी
वी ओ 3
अब सभी व्यापारी मण्डी में कम आवक और डिमांड ज्यादा होना महेंगाई का कारण बता रहे है है पर कुछ लोगो का आरोप ये भी है की बड़े बड़े व्यापारी गोदामों में बड़ी बड़ी आलू की जमाखोरी कर रहे है और रेट बढ़ जायेगे उसके बाद नवरात्र में बढे रेट में उस आलू को निकालेगे और बड़ा मुनाफा कमायेगे .. वजह चाहे कुछ भी हो सरकारों की जिम्मेदारी बनती है की वे सब्जियों के भाव पर भी अंकुश रखे ..और भाव बढने पर सरकार की तरफ से कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी हो ... फिलहाल नवरात्र से पहले भाव कम होते नजर नहीं अ रहे है बल्कि बढ़ते भाव ही नजर आ रहे है ................

अनिल अत्री दिल्ली ......
लगे है .. आजादपुर थोक मण्डी में आज आलू 35 से 50 रूपये किलो आया है जो रीटेल में 55 से सत्तर (70)  रूपये किलो बेचे जायेगे .. कल दिल्ली में रिटेल में बढ़िया आलू का भाव 70 रूपये किलो होगा .. अब आलू की भाव बढने का कारण व्यापारी लोग डिमांड ज्यादा और आपूर्ति कम बता रहे है पर कुछ लोगो का आरोप है की आगे त्योहार व् नवरात्रों को देखते  हुए कुछ बड़े बड़े जमाखोरों ने आलू की जमाखोरी कर ली है और अब रेट बढ़ेगा और ये बड़ा मुनाफा कमायेगे .. फिलहाल तयोहारो के सीजन में बढ़ते सब्जियों के दामो से आम आदमी एक बार फिर महेंगाई से परेशान हो उठा है ..लोकी व् खीरे जैसी सब्जिया भी थोक के भाव में 30 रूपये किलो तक पहुंच गई है जो रीटेल में पचास रूपये किलो तक बिक रही है ..

Sunday, September 21, 2014

दिल्ली के शकुरबस्ती इलाके में एक निजी NGO व दिल्ली पुलिस की टीम ने महिलाओं को जागरूक करने का कैम्प आयोजित किया

ये शव है दो वफादार कुत्तो के ... इन्होने रात को चोरो को भगाकर वफादारी क्या निभाई की चोरो के ग्रुप ने सुबह गली में आकर इन दोनों कुत्तो को ही पत्थरों से कुचलकर मार डाला

नार्थ-वेस्ट दिल्ली के भलस्वा थाना इलाके में  हुआ डबल  मर्डर .. गली में सबके सामने दिन दहाड़े पत्थरों से कुचलकर की हत्या ..लिखित शिकायत के बाद भी पुलिस ने दर्ज नहीं की FIR .. क्योकि मर्डर इंसानो का नहीं बेजुबान जानवर कुत्तो का था ..लोगो का पुलिस के खिलाफ गुस्सा की मर्डर तो मर्डर ही है फिर भी कोई कारवाई क्यों नहीं ..पूरी गली व् मोहल्ले का आरोप है मर्डर पास के छे लडको ने किया जो अक्सर करते है चोरिया .. लोगो का आरोप है की रात को चोरी के वक्त कुत्ते भोंकते है और ये लडके चोरी नहीं कर पाए और सुबह आकर इन दोनों कुत्तो को ही पत्थरों से कुचलकर मार डाला ... लोगो ने पुलिस को कोल की कुत्तो का मर्डर सुनकर पुलिस आई नहीं उसके बाद गली के लोग खुद थाणे गये शिकायत दी तो पुलिस का जवाब था की इंसान थोड़े में मरे है कुत्ते मरे है और कोई मुकद्दमा दर्ज नहीं किया .................
वी ओ 1
ये शव है दो वफादार कुत्तो के ... इन्होने रात को चोरो को भगाकर वफादारी क्या निभाई की चोरो के ग्रुप ने सुबह गली में आकर इन दोनों कुत्तो को ही पत्थरों से कुचलकर मार डाला ..ये आरोप है स्थानीय लोगो का ... मामला है नार्थ वेस्ट दिल्ली के भलस्वा डेरी का .. दरअसल भलस्वा डेरी इलाके में आज सुबह छे लोग इस गली में आये और अचानक दो कुत्तो पर हमला कर दिया और कुत्तो को पत्थरों से कुचलकर मार डाला .. लोग इन दबंगो के सामने मौके पर कुछ नहीं कर पाए सिर्फ पुलिस को कोल करते रहे ..पुलिस आई नहीं .. हत्यारे दोनों कुत्तो की हत्या कर चले गये.. लोग इक्कठे होकर खुद थाणे गए पर पुलिस ने घंटो बैठने के बाद लोगो को भगा दिया और कहा की कुते मरे है इंसान नहीं ...
बाईट - आशा स्थानीय महिला
बाईट -  मिथिलेश स्थानीय महिला

वी ओ 2 अब इन दोनों कुत्तो ने वफादारी की और दोनों को बदले में मौत मिली .. पुलिस ने भी जिम्मेदारी नहीं निभाई है क्या दिल्ली में बेजुबान जानवरों की रक्षा करना क्या पुलिस की जिम्मेदारी नहीं है .. अब यदि ये लोग चोर नहीं भी है एक बार लोगो का आरोप झूठा भी माने तो फिर भी इस तरह बेजुबान का मर्डर करना गैर कानूनी है और उस पर कारवाई न करने से थाना SHO भी कही न कही जिम्मेदार है .अब SHO साहब पर भी कारवाई होना जरुरी है . अब जरूरत है इन बेजुबान जानवरों से जुडी NGO सामने आये और मौत के घाट उत्तरे इन बुजुबान जानवरों को इन्साफ दिलवाए ..

अनिल अत्तरी दिल्ली ......

Wednesday, September 17, 2014

राजधानी के 7000 बच्चों का भविष्य अँधेरे में .... स्कुल ने बिल्डिंग डेंजरस होने की बात कह कर अगले सोमवार से बंद करने का दिया नोटिस

अनिल अत्री  दिल्ली ...
ANIL ATTRI DELHI ......



 
राजधानी के 7000 बच्चों का भविष्य अँधेरे में  .... स्कुल ने बिल्डिंग डेंजरस होने की बात कह कर अगले सोमवार से बंद करने का दिया नोटिस  .... बच्चों के पढ़ने का नहीं किया कोई वैकल्पिक व्यवस्था  .... मामला बुराड़ी का है  … 
वीओ  1  
उत्तरी दिल्ली के हद पर बसे बुराड़ी में स्कूलों का तो पहले से हो घोर आभाव था.... बच्चों की संख्या बीसियों हजार से ज्यादा है , लेकिन बैठने के लिए कमरे तक नहीं है.... बच्चों को एक दिन छोड़ कर दूसरे दिन स्कुल बुलाया जाता था  .... उस पर भी इस नए शेषन में दो महीने शिक्षकों के आभाव में निकल गए  .... अब जब शिक्षक आये तो स्कुल ने बिना किसी से बात किये स्कुल की दिवार पर स्कुल बंद करने का नोटिस लगा दिया   …
बाईट --लवलीन (छात्रा ) ....पीला और काला टॉप। .... यहां पर पहले तो बिल्डिंग की छत गिरी उस समय तो सही कराया नहीं 6-7 महीने हो गए अब कह रहे है की टेंट लगाएंगे....हमारे बोर्ड के पेपर है हमें प्रक्टिकल चाहिए की नहीं चाहिए। …… ??   
बाईट---डॉली चौधरी (छात्रा )…  लाल चुनरी का सलवार सूट। .... पहले हमारे स्कूल में टीचर्स नहीं थी कोर्स पूरा नहीं हुआ और अब जब टीचर्स आये है तो बिल्डिंग खराब है और हमें शिफ्ट करने को कह रहे है।
बाईट- काजल (छात्रा ) ……… लाल रंग का टॉप। …। ये लोग कह रहे है की यही पर टेंट लगाकर पढ़ाएंगे। … हमारे अच्छे मार्क्स कहाँ से आएंगे जब हम पढ़ ही नहीं पाएंगे क्या हम धक्के खाएंगे। ……
बाईट---लक्ष्मी  (छात्रा )…खुले बाल में शर्त पहने हुए। …… दो महीने पहले से ही टीचर्स नहीं थी इनके पास तो बोले एग्जाम पोसपोन् हो जायेंगे पर हम तो 12 में है हमारे एग्जाम कैसे पोसपोन् होंगे। … स्कूल में ना पानी है ना सफाई। ....... 
वीओ  2  
स्कुल प्रशासन का कहना है की स्कुल की ईमारत जर्जर हो गई है , जिसे तोड़ कर बनाया जायेगा  … लेकिन अभिभावकों का कहना है की ईमारत पिछले पांच साल से जर्जर है  इसलिए इसे तोडना ही था तो गर्मियों के छुट्टियों में तोडा जाना चाहिए था  .... और अगर अब भी तोडना है तो पहले बच्चों के पढ़ाई की वैकल्पिक व्यवस्था होनी चाहिए  … वही स्कूल के प्रिंसिपल इस मामले में कुछ भी कहने को तैयार नहीं। …… 
बाईट -लक्ष्मी प्रसाद। …अभिभावक। …  लाल सफ़ेद लाईन की कमीज में। ……हम सब यहां पढ़े है 25 साल से देख रहा हूँ ये स्कूल 5-6 साल से खराब हो गया है इनको अब पता चल रहा है। …बच्चों की पढ़ाई का क्या होगा। …
बाईट--  प्रिंसिपल। .... हलकी नीली सर्ट में बैढे हुए। …मैं कुछ नहीं कह सकता मुझे पहले परमिसन चाहिए होती है आप को भी हमारे अधिकारियों से परमिसन लेनी होगी। …। 
वीओ  3 
स्कुल प्रशासन ने बच्चों को दूसरे स्कुल में ट्रांसफर करने की बात कह रहे हैं  , लेकिन इलाके में ट्रांसपोर्टेशन की उचित व्यवस्था न होने के कारन छात्र और अभिभावक इस पर राजी नहीं हो रहे हैं  .... वहीँ बच्चे टेंट में बैठ कर पढ़ने को तैयार नहीं है  .... ऐसे में स्थानीय विधायक ने आने वाले दिनों में एजुकेशन डाइरेक्टर से मीटिंग कर मसले को सुलझाने की बात कह रहे हैं  .... 
बाईट---संजीव झा , स्थानीय विधायक। …लाल कुर्ते में ....... मैं बात करता हूँ कल एक जॉइंट मीटिंग रख रहे है जिसमे देखंगे क्या समाधान हो सकता है। … एक बात तो तय है की बच्चो की शिफ्ट नहीं किया जाएगा। ……  
बाईट---
वीओ  4  
ऐसे में सबसे ज्यादा परेशानी उन बच्चों की है जो दसवीं और बारहवीं में हैं  .... क्यूंकि अभी तक पढाई हो नहीं पाई , और आगे होने की सूरत भी नहीं दिख रही  .... फिर इन बच्चों का क्या होगा ये बुराड़ी के लोगों के लिए यक्ष प्रश्न बनता जा रहा है
अनिल अत्री  दिल्ली ...
ANIL ATTRI DELHI ......

 

Tuesday, September 16, 2014

निजी स्कूल की बस ने गली में खेल रहे चार साल के बच्चे को कुचला ..

निजी स्कूल की बस ने गली में खेल रहे चार साल के बच्चे को कुचला ..
अनिल अत्री दिल्ली .............
एंकर -




बाहरी दिल्ली के कंझावला थाना इलाके में निजी स्कूल की बस ने गली में खेल रहे चार साल के बच्चे को कुचला ..बच्चे की मौके पर मौत .. गुस्साए लोगो ने बस में की तोड़फोड़ .. बस को कब्जे में लेकर पुलिस जांच में जुटी ...................
वी ओ 1
ये है बाहरी दिल्ली के कंझावला थाना एरिया  का मीर विहार .. यहा हीरालाल पब्लिक स्कूल रानी खेड़ा की इस बस ने गली में खेल रहे चार साल के अजाज को कुचल दिया .. मासूम अजाज की मौके पर ही मौत हो गई ..बस अचानक गली में आई और बच्चे को बिना देखे ड्राईवर ने कुचल दिया .बच्चा बस के नीचले पहिये से कुचला गया और मौके पर ही मौत हो गई .. लोगो का आरोप है की बस की गति तेज थी इस कारण हादसा हुआ और गुस्साए लोगो ने स्कूल बस को तोड़ डाला ...
बाईट - मोहम्मद खादिम मृतक बच्चे के पिताजी ..
वी ओ 2
अब बच्चे का परिवार गम है ..अब इस तरह के हादसों से साफ है राजधानी में मासूम बच्चे बिलकुल सेफ नहीं है ..कल थाना स्वरूप नगर इलाके में एक शख्स ने बच्चे को सड़क पर पटका जो जिन्दगी व् मौत के बीच जूझ रहा है और आज एक मासूम को इस बस ड्राईवर ने कुचल दिया और जान ले ली ..अब ये भी जांच का विषय है की बस का ड्राईवर कौन था .. बस का ड्राईवर आदि स्टाफ रूल रेगुलेशन के मुताबिक़ थे या नहीं . अब बस को कब्जे में लेकर कंझावला थाना पुलिस मामले की जांच कर  रही है ...................

अनिल अत्री दिल्ली .............

E-रिक्सा चालको की याचिकाकर्ता से याचना ..................

E-रिक्सा चालको की याचिकाकर्ता से याचना ..................
एंकर - राजधानी दिल्ली में E-रिक्सा को नियमित करने के लिए मसौदा तैयार हो गया है और अगले दस दिन में अधिसूचना जारी होने की सम्भावना .. अब अगले दस दिन में E-रिक्सा फिर से शुरू होने की आशाये बढ़ी .. E-रिक्सा चालको  में ख़ुशी की लहर जरुर पर नहीं हो पा रहा है विश्वास .. जिनके E रिक्सा घर खड़े उन लोगो ने अब राहत की साँस ली ..E-रिक्सा का कहना का सभी कानून सरकार एक बार में ही बना ले ताकि बार बार इनके रिक्सा बंद न हो और हम सब कानून मानने की तैयार ... साथ ही E-रिक्सा के खिलाफ याचिकार्ता से भी E-रिक्सा चालको ने हाथ जोडकर प्रार्थना की है की वो सरकार से मिलकर अपनी आपत्तिया दूर करवा ले और उपरी अदालत या किसी दूसरी पिटीशन के जरिए इनकी रिक्सा बंद न करवाए क्योकि इससे हजारो गरीबो का चुल्हा बुझ जाता है ...............
वी ओ 1
दिल्ली में E-रिक्सा कोर्ट के आदेश के बाद बंद है .. हजारो गरीब ऐसे है जिन्होंने लोंन  लेकर तो किसी ने ब्याज पर पैसे लेकर E-रिक्सा खरीदी और उससे अपना परिवार पालना शुरू किया .. लेकिन E-रिक्सा से कई हादसे हुए .. मनमाने ढंग से E-रिक्सा सड़को पर चलने लगे .. नाबालिग बच्चे E-रिक्सा चलाने लगे .. ये साइकिल होने के कारण सड़को पर कोई चालान नहीं ..कोई नियम का पालन नहीं .. एक याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने E-रिक्सा पर बैन लगाते हुए कहा की सरकार कोई नियमावली बनाये इन्हें मोटर व्हीकल एक्ट के अंदर शामिल करे तभी चलाए तब तक E-रिक्सा पर पर पूरी तरह बैन लगा दिया .. इससे हजारो लोग बेरोजगार हो गये ... और तभी से सरकार कोर्ट में जल्दी ही E-रिक्सा के लिए मोटर व्हीकल एक्ट लाने की बात कह चुकी है और अब अगले दस दिन में ये सरकार एक नियमावली बनाकर अधिसुचना लाएगी जिसके जरिए ये E-रिक्सा फिर से चल सकेगे .. इस बार से E-रिक्सा चालक काफी खुश है की अगले दस दिन में इनके E-रिक्सा चलने की संभावनाए काफी बढ़ गई है ..पर इन लोगो का कहना है की E-रिक्सा चलने पर ही इन्हें पूरा विशावस होगा क्योकि आश्वासन पहले भी मिल चुके है ये पोलिटिकल आश्वासन पर पूरी तरह विश्वास नहीं कर रहे है .. 
बाईट - E-रिक्सा चालक
बाईट - E-रिक्सा चालक
वी ओ 2
अब E-रिक्सा चालको का कहना है की सरकार नियम भी एक साथ बनाये बार बार इनके E-रिक्सा बंद न हो जितने नियम बनाने है वे सब अभी एक साथ बना ले ये लोग सब नियम मानने को तैयार है पर बार बार इनके E-रिक्सा बंद न हो ... साथ ही E-रिक्सा के खिलाफ याचिकाकर्ता से भी E-रिक्सा चालको ने याचना की है की वो अपनी आपत्तिया भी सरकार से मिलकर इस नियमावली में शामिल कर ले और बाद में कोई दूसरी याचिका या उपरी अदलात में न जाए ताकि हम गरीबो के E-रिक्सा चलते रहे ....
बाईट - E-रिक्सा चालक
बाईट - E-रिक्सा चालक
वी ओ 3
अब E-रिक्सा चालको में एक आश जरुर जगी है वो पूरी होगी या याचिकाकर्ता किसी उपरी अदलात में जाएगा या यही अलाद्त अनुमति देगी या नहीं देगी ये आने वाला वक्त तय  करेगा .........

अनिल अत्री दिल्ली .............





Saturday, September 13, 2014

दिल्ली नगर निगम के मेटरनिटी होम में पिछले छे महीनो से नहीं हुई एक भी डिलीवरी






बाहरी दिल्ली के बख्तावरपुर में बने  दिल्ली नगर निगम के मेटरनिटी होम में पिछले छे महीनो से नहीं हुई एक भी डिलीवरी ..दर्जनों गावो के लिए बना है ये मेटरनिटी होम .... आलिशान बिल्डिंग में बने इस मेटरनिटी होम में करीब आध दर्जन स्टाफ हर महीने ले रहा है लाखो  की सेलरी .. पिछले छे महीने से डिलीवरी के इस होम में लेडी डॉ ही नहीं है .. बाकी चपरासी , नर्स , वार्ड बॉय जैसे स्टाफ पर हो रहे है लाखो खर्च .. बिल्डिंग के उपरी दो मंजिल पर छे महीने से सफाई तक न होने से कई कई इंच रेत व् मलबा चढ़ा ..ग्रामीणों ने विरोध किया तो उत्तरी दिल्ली नगर निगम की हेल्थ कमिटी के चेयरमेन गुलाब सिंह राठौर ने दौरा किया तो वे भी ये सब देख हैरान थे और चेयरमेंन ने कहा सफाई कर्मियों पर होगी निश्चित रू से कारवाई और पानी आदि की भी सुविधा का भी अभाव माना .. और ग्रामीणों को जल्दी सुधार के साथ साथ जिम्मेदार लोगो के खिलाफ कारवाई का दिया आश्वाशन  ... मेटरनिटी होम की उपरी मंजिल पर बिल्ली  , सांप , चंमगादड़, कबूतरों की भरमार ... पानी की टंकिया खाली ... यहा सुविधा न होने से यहा के दर्जनों गावो के लोगो को बीस किलोमीटर दूर बाड़ा हिंदूराव या रोहिणी के बाबा साहेब अम्बेडकर अस्पताल में पड़ता है जाना .........
वी ओ 1
ये है बाहरी दिल्ली के बख्तावरपुर में बना दिल्ली नगर निगम का मेटरनिटी होम .. यहा आसपास के दर्जनों गावो की सुविधा के लिए ये मेटरनिटी होम बनाया गया था ताकि गावो के महिलाओं को डिलीवरी के लिए ज्यादा दूर न भागना पड़े .. पर इसके हालात कई सालो से बदतर है .. तीन मंजिला आलीशान बिल्डिंग बनी है जिसमे एक अस्पताल तक चलाया जा सकता है .. पर या डिलीवरी का रिकोर्ड देखकर आप हैरान हो जायेगे ...यहा एक साल में मात्र तीन महिलाओं की डिलीवरी हुई ..और पिछले छे महीने में तो एक भी डिलीवरी नहीं ...छे महीने से मेटरनिटी होम में महिला डॉ ही नहीं है .. छे महीने पहले महिला डॉ की ट्रांसफर हुई तो दूसरी महिला डॉ आई ही नहीं नहीं .. और मेटरनिटी होम में बाकी कर्मचारियों की लाखो की सेलरी हर महीने से निगम से आ रही है और काम का रिजल्ट जीरो है ...
बाईट - सुमित चौहान स्थानीय निवासी  पहचान लाल टी शर्ट ..
वी ओ 2
स्टाफ ही नहीं यहा जो स्टाफ है वो भी जिम्मेदारी नहीं निभा रहा .. बिल्डिंग के निचे के पोर्शन को छोडकर उपरी मंजिलो पर करीब छे महीने से सफाई ही नहीं की गई .. ये देखिये पक्षियों का मलबा .. कूड़े के ढेर .. गंदगी ..इससे साफ दिखाई  दे रहा है की ये सब एक दिन का नही बल्कि महीनों से जमा है ये सब .. टॉयलेट के हालात देखिये .. ये देखिये वाशवेसन को डस्टबीन बनाया है ..पानी की टंकिया खाली है ... ओपरेशन थियेटर का सालो से यूज नहीं हुआ है .. मेटरनिटी होम में ये नया सामान आया तो काम नहीं तो जरूरत भी नही नया सामान सालो से इस स्टोर में पड़ा है और उसके खुले हिस्से पर हवा लगने से देखिये जंग लगना शुरू हो गया ..  उपर दीवारों से पलस्तर झड रहा है ...बिजली की तारे खुली है ... साप बिल्ली कबूतर जैसे पक्षियों और जानवरों ने इसे अपना घर बना लिया ....
बाईट -जोगिद्र मान  स्थानीय निवासी पहचान- सफेद कुर्ता पायजामा ..
बाईट -पवन स्थानीय निवासी

वी ओ 3
इसकी शिकायत उत्तरी दिल्ली नगर निगम के हेल्थ कमिटी के चेयरमेन गुलाब सिंह राठौर को भी की गई ..वे खुद दौरे पर आये तो सब देखकर हैरान थे ..चेयरमेंन साहब दो बजे मेटरनिटी होम में पहुंचे तो मोर्निग का स्टाफ जिसकी डयूटी दो बजे तक थी वे मेटरनिटी होम से जा चुके थे और नया इवनिंग का स्टाफ मिला .. गंदगी मिली ..बिजली की तारे खुली मिली .. चमगादड़ , बिल्ली कबूतर मिले पर मरीज एक भी नहीं डॉ भी नही ..पता किया तो चेयरमेन साहब को बताया गया की पिछले छे महीने से एक भी मरीज नहीं आया .. मरीज आये भी कैसे मेटरनिटी होम में पिछले छे महीने से लेडी डॉ ही नहीं ... और उससे पहले की भी दर देखिये एक साल में मात्र तीन डिलीवरी .. ये आंकड़ा सबको हैरान करने वाला है ... चेयरएमेंन साहब ने खुद देखिये पूरे हालात देखे ... बंद टॉयलेट देखे ..गंदगी देखि और कहा की सफाई के लिए जिम्मेदार शख्स पर निश्चित रूप से कारवाई होगी ..बाकी कामो में सुधार होगा ..
बाईट - गुलाब सिंह राठौर ( चेयरमेन हेल्थ कमेटी उत्तरी दिल्ली नगर निगम )
वी ओ 4
अब यहा सुधार के लिए आश्वासन मिला है देखने वाली बात होगी की इस पर कब तक अम्ल होगा .. बाकी यदि ये मेटरनिटी होम सुचारू रूप से चला तो आसपास के दर्जनों गावो को और दर्जनों कालोनियों के लाखो लोगो को फायदा होगा और उन्हें दूर दराज के अस्पतालों में नहीं भागना पड़ेगा और अंदर के अस्पतालों पर भी भार नहीं बढ़ेगा ........................
अनिल अत्री दिल्ली .............


Thursday, September 11, 2014

छात्र ने सिगरेट लाने से मना कर दिया तो चाकूयों से गोद कर उसकी हत्या ..

.छात्र ने सिगरेट लाने से मना कर दिया तो चाकूयों से गोद कर उसकी हत्या कर दी गई...दिल दहलाने वाली ये घटना देश की राजधानी दिल्ली की है ...जहाँ डांस क्लास के बाद घर लौट रहे छात्रो को रास्ते में शराब पी रहे कुछ बदमाशो ने सिगरेट लाने को कहा जिसे वो और उसके साथियो ने मना कर दी , तो बदमाशो ने एक को डंडे से मार सिर फोड़ दिया दूसरे को चाकूओ से गोद हत्या कर दी । 2 आरोपी गिरफ्तार हैबाकी दो फऱार है ... पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है मामला भारत नगर थाने ईलाके की है ।
वीओ  1
रोती बिलखती इस माँ को कोन दिलाशा दे ---कुछ शराबियों ने इसके 14 साल के बच्चे को केवल इसलिए चाकुओं से गोदकर मार किया की उसने उन्हें बहार से सिगरेट लाकर नहीं दी --घटना वज़ीर पर जे जे कॉलोनी की है --कल रात नवीं क्लास का छात्र रंजन अपने दोस्त के साथ पार्क में डांस क्लास लेने के बाद घूम रहा था --उसी वक्त पार्क में कई लडके बैठकर पार्क में शराब पी रहे थे --उन्होंने रंजन और उसके दोस्त को बुलाकर बहार से सिगरेट लाकर देने को कहा --उन्होने इंकार किया तो वे उन्हें मरने दौड़े --यह देख रंजन और उसका दोस्त भागने लगे --लेकिन उन शराबी युवकों की तादाद ज्यादा थी --उन्होंने उन्हें पार्क के बाउंड्री के बहार पकड़ लिया और डंडे और चाकुओं से हमला कर दिया --रंजन को भी दो चाक़ू मारे --उसे घायल हालत में अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसके मौत हो गयी --सभी आरोपी आस पास के ही रहने वाले है --
बाईट --विजय ( चश्मदीद व पीड़ित )
(हम पार्क में घूम रहे थे -ये लोग शराब पी रहे थे उन्होंने हमें सिगरेट लाने को कहा --हमे मना कर दिया तो मरा --रंजन को चाकुओं से मारा )
वी-ओ-2
रंजन के घरवालों का रो रोकर बुरा हाल है --किसी को यकीन नहीं हो रहा है की इतनी छोटी से बात पर कोई इस छोटे बच्चे की ह्त्या तक कर सकता है --रंजन के माता पिता को इसकी खबर आस पास के ही कुछ लडको ने दी --वे उसे पास के सुंदर लाल जैन अस्पताल ले गयी लेकिन वहां  इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी --
बाईट ---शिवजी और चन्द्र कला ( रंजन के माता पिता )टेक्स्ट -  शिवाजी में दस बजे आया ..देखा मेरी बीवी भागी जा रही है .दो चाकू मारे ..मेन बन्दा पकड़ा नहीं गया ..
माँ - टेक्स्ट -
वी-ओ-3
हैरानी यह नहीं है की केवल सिगरेट न लाकर देने पर कुछ शराबियों ने रंजन को इतनी बेरहमी से मारा --- बल्कि सवाल यह भी है की इस तरह पार्क में सरेआम शराबी शराब पी रहे है लेकिन उन्हें कोई रोकने टोकने वाला नहीं है ---न पुलिस का खौफ  है और न पार्क में इन्हे शाराब पीने से कोई रोकने वाला --बहरहाल भारत नगर थाना पुलिस ने इस मामले में दो लोगों गिरफ्तार कर लिया है तो दो की तलाश है --


अनिल अत्री  दिल्ली ...

दिल्ली में भाजपा की सरकार बनी तो होगा बड़ा आन्दोलन .ये कहना है आम आदमी पार्टी का

दिल्ली में भाजपा की सरकार बनी तो होगा बड़ा आन्दोलन .ये कहना है आम आदमी पार्टी का .शीला दीक्षित ने भाजपा के पक्ष में ब्यान क्या दिया दिल्ली की राजनीति में हलचल मच गई .. बुराड़ी से आप विधायक संजीव झा ने कहा की ये हास्यपद है हम तो पहले ही कह रहे थे की ये दोनों पार्टिया मिली हुई है ... . अब शीला दीक्षित ने बोल तो दिया पर आकंडा कहा से आयेगा .. शीला दीक्षित सीनियर नेता है वो ऐसे नहीं बोलती कुछ होगा तभी बोला है इसी कारण भाजपा कह रही है की वो न्योता मिलने पर वे सरकार बनाएगी .. संजीव झा ने कहा की इन दोनों ने प्रजातंत्र को धोखा दिया है .. इस तरह चोर दरवाजे से सरकार नहीं बनने देंगे .. यदि चोर दरवाजे से सरकार बनी तो हम घर घर जायेगे ..और बड़ा आन्दोलन होगा ..
बाईट - सजीव झा आप विधायक
वी ओ फाइनल - अब खुद 49 दिन में दिल्ली से भागने वाली सरकार दुसरो के सरकार बनाने पर बड़े आन्दोलन की बात कह रही है शायद इस पार्टी को आन्दोलन में ही आनन्द आता है क्योकि खुद की सरकार में भी इसकी पार्टी के सीएम साहब भी धरने बैठ गये थे ... अब यदि भाजपा सरकार बनाएगी तो आम आदमी पार्टी छटपटायेगी और आन्दोलन करेगी तो कोई हैरानी नहीं होगी ..................

अनिल अत्री दिल्ली .....................

Tuesday, September 9, 2014

यमुना बनेगी दिल्ली की शान ... यमुना के विकास पर केंद्र सरकार खर्च करेगी दो हजार करोड़ .

यमुना बनेगी दिल्ली की शान ... यमुना के विकास पर केंद्र सरकार खर्च करेगी  दो हजार करोड़ .... नरेला पल्ला से नॉएडा तक बनेगे तीन बैराज .. ड्राफ्ट तैयार करने में लगी केंद्र सरकार .. केन्द्रीय मंत्री नितिन गटकरी ने दावा किया छे महीने में करेगे काम शुरू और दिल्ली को मिलेगा पूरा पानी ... DDA ..दिल्ली गवर्मेंट ..निगम की बुलाई मीटिंग ..
वी ओ 1
ये देखिये यमुना की हालत .. कितना काला गंदा पानी आकर यमुना में गिर रहा है .. जगह है वजीराबाद ..यहा पर दो बड़े नाले आकर यमुना में गिर रहे है और और पहले से गन्दला पानी और ज्यादा गन्दला हो रहा है .. दुसरे दिल्ली में पीने के पानी की किल्लत है ..और ये किल्लत लगातार चलती आ रही है .. हरियाणा से पानी को लेकर विवाद जारी है और कोई स्थाई समाधान इस समस्या के लिए नहीं किया गया .. अब केंद्र सरकार इस पर गंभीर हुई है और इस समस्या का स्थाई समाधान  की कोशिश में है .केन्द्रीय मंत्री नितिन गटकरी ने दावा किया है की वे यमुना को दिल्ली की शान बनायेगे और  नरेला पल्ला से नॉएडा तक तीन बैराज बनाये जायेगे . जहा पानी रोककर पूरी दिल्ली को पानी दिया जायेगा ...   ड्राफ्ट तैयार करने में लगी केंद्र सरकार ..  ..उसके बाद दिल्ली को मिलेगा पूरा पीने का पानी ... वजीराबाद में बैराज तैयार किया जाएगा और दुगुना पानी जमा होगा .. इस योजना को शुरू करने में अब वक्त नहीं लगेगा केवल  छे महीने में करेगे काम शुरू.....
बाईट - केन्द्रीय मंत्री नितिन गटकरी

वी ओ 2
यमुना को लेकर सरकार ही नहीं सामाजिक संठन भी हमेशा आवाज उठाते रहे है और पिछली सरकार में यमुना एके नाम पर करोड़ो रूपये खर्च हुए पर यमुना की हालत नहीं सुधरी सब भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया अब लोगो को मोदी सरकार से कुछ आशा बंधी है ..  सामाजिक कार्यकर्ता भी केन्द्रीय मंत्री नितिन गटकरी की योजना बैराज बनाकर पानी रोककर फिर दिल्ली में सप्लाई करने के ड्राफ्ट को सही ठहरा रहे है और ये सामाजिक कार्यकर्ता अपने सुझाव भी दे रहे है जिससे ये योजनाए और भी कारगार साबीत हो ..समाजिक कार्यर्क्ताओ का मानना है की तीन महीने छोडिये यदि तीन साल में भी हो जाए तो बड़ी कामयाबी होगी .....
बाईट -   हरपाल राणा समाजिक कार्यकर्ता
वी ओ 3
अब लोगो को मोदी सरकार से कुछ आशा है और केन्द्रीय मंत्री नितिन गटकरी  भी दावा कर रहे है की छे महीने के अंदर ये काम शुरू होगा .. यदि सही में ये योजना पूरी हुई तो दिल्ली के लोगो की एक पीने के पानी की बड़ी समस्या का समाधान होगा .

अनिल अत्री दिल्ली ...............


अनिल अत्री  दिल्ली ...
ANIL ATTRI DELHI ......

Monday, September 8, 2014

दिल्ली में पिछले तीन दिन से हो रही बारीस में बाहरी दिल्ली के नरेला की अनाज मण्डी में हजारो टन अनाज भीग रहा है

दिल्ली में पिछले तीन दिन से हो रही बारीस में बाहरी दिल्ली के नरेला की अनाज मण्डी में हजारो टन अनाज भीग रहा है ...ये एशिया की जानी अनाज मण्डी होने के कारण ऑफ सीजन में भी हजारो टन अनाज के ढेर लगे थे जो मण्डी में शैड न होने के कारण भीग रहे है और अनाज खराब हो रहा है .. बारीस में भीगकर अनाज काफी मात्रा में खराब हो जाता है ..... यहाँ अनाज कुछ किसानो तो कुछ बीच के व्यापारियों का है .. जब बारीस आती है तो तब  अनाज के ढेर अचानक कहा लेकर जाए  मंडी में शेड नही है .. शेड न होने से अनाज खराब होता है .... ..सरकार ने दिल्ली में यह अनाज मंडी तो बना दी लेकिन अनाज को रखने की सुरक्षित व्यवस्था नहीं कर पा रही है...यहाँ हर साल हजारो टन अनाज  बारिश में भीग जाता है लेकिन सरकार शैड बनाना तो दूर तिरपाल तक उपलब्ध नहीं करा पा रही है.. आजकल मंडी में धान की फसल खराब हो रही है ...

वी ओ 1
देश में कुछ लोग भूख से मर रहे है ...उनके पास रोटी भी नसीब नही ..पर दूसरी तरफ यहा देखिये नरेला अनाज मंडी ...यहा खुले में हजारो टन अनाज पड़ा है और जब भी बारीस आती है तो ये अनाज भीग जाता है ...आजकल सीजन ऑफ है पर इस मण्डी में आजकल भी धान की फसल के ढेर लगे है .. ये देखिये कैसे खुले ढेर व् बोरियो के ढेर लगे है .. मण्डी में हजारो टन अनाज इसी तरह फैला हुआ है और खराब हो रहा है .. बोरिया खीग गई ..ज्यादा भीगने पर इस अनाज में अंकुर तक पैदा हो जायेगे .. अब अनाज खराब भी हुआ और किसान व् व्यापारियों को दाम भी काफी कम मिलेगे और इन्हें भारी घाटा उठाना पड़ेगा ..........
बाईट - धीरज आढती
वी ओ 2
 अनाज मंडी के लिहाज से ये मंडी एशिया की जानी मानी मंडी है .और यहा दिल्ली के अलावा  हरियाणा , उत्तर प्रदेश व राजस्थान से भी किसान फसल लेकर आते है और यहा की बदहाली से सब किसान परेशान है जबकि यहा इस मंडी से करोड़ो का टेक्स सरकार को मिलता है पर बदले में ये बदहाली ...मजदुर भी यहा बदहाली में है ..
बाईट - रामपाल  किसान
वी ओ 3
इस मंडी में अनाज बर्बाद होने का मामला एव पहला नहि है इससे पहले भी हर वर्ष यह ऐसी तरह हजारो क्विंटल  अनाज खराब होता है और मामले को मीडिया सरकार को भी हर साल परिचित करवाती है पर सरकार इंतजाम कुछ नहीं करती ...लगता है इस बार भी मिडिया ये अनाज की बदहाली दिखायेगी पर सरकार कुछ नहीं करेगी और अगली बारीस में फिर अनाज खराब होगा और लगता है ये लगातार चलता रहेगा .. ..

अनिल अत्री  दिल्ली ..

दिल्ली में महिलाओं के लिए जरूरी हुआ दुपहिया पर हेल्मेंट पहनना

दिल्ली में महिलाओं के लिए जरूरी हुआ दुपहिया पर हेल्मेंट पहनना ..पर महिलाये नही कर रही है नियम का पालन ..आज दिल्ली में कई जगह पुलिस ने किये चालान .कुछ महिलाये हेल्मेंट खरीदती नजर जरुर आई .. महिलाओं ने गिनाये अलग अलग बहाने .किसी ने सिर दर्द तो ..किसी ने सिख महिला होने का दावा किया ..
वी ओ 1
ये है दिल्ली का मॉडल टाउन इलाका .. यहाँ बाइक चलाने वाली व बाइक पर सवार होने वाली बिना हेल्मेंट की महिलाओं के चालान किये जा रहे है .. ऐसे ही चालान किग्ज वे कैम्प पर किये गये .. काफी तादाद में महिलाये बिना हेल्मेंट के दुपहिया पर सवारी करती मिली ... महिलाये कोई सिख महिला तो कुछ बहाना करती नजर आई .... कुछ महिलाये हेल्मेंट खरीदते हुए भी मिली ...
बाईट - बाइक सवार महिला
बाईट - बाइक सवार महिला
बाईट - बाइक सवार महिला
वी ओ 2
रोड़ पर सेफ्टी के लिए हेल्मेंट का पहनना जरुरी है ... जब दुर्घटना होती है तो उस वक्त कोई लिंग , धर्म विशेष आदि का बहाना नहीं चलेगा और बिना हेल्मेंट के सिर फटने मौत होने की संभवना कई गुना ज्यादा होगी .. अब लोगो को भी समझना होगा की हेल्मेंट चालान से बचने के लिए नहीं बल्कि खुद की सेफ्टी के लिए जरुरी है ..

....


अनिल अत्री  दिल्ली ...

दिल्ली में नाबालिग़ लडकी ने दिखाई बहादुरी ..

दिल्ली में नाबालिग़ लडकी ने दिखाई बहादुरी .. अपने पिता को किडनेपर से बचाया ..बल्कि आसपास के लोगो के पहुंचने पर तीन किडनेपर को कराया अरेस्ट भी ... मामला बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी का .. शनीवार रात छे से सात किडनेपर ने के ब्लाक में एक घर से शख्स को किडनेप किया और शख्स के बेटी ने देखा तो विरोध किया न विरोध किया बल्कि सात किडनेपर के बीच अपने पिताजी का हाथ पकड़ लिया ..लडकी किडनेपरस संघर्ष करने लगी ..साथ में सहायता के लिए चिल्लाई भी और तभी आसपास के लोग जागकर आये साथ में वही से गुजर रहा कोंस्टेबल भी आया तो कुछ किडनेपर भाग गये पर तीन किडनेपर को उनकी जाईलो गाडी समेत पकडकर पुलिस के हवाले किया ...लडकी की बहादुरी ने अपने पिताजी की जान बचा ली ..................
वी ओ 1
ये लडकी है 16 साल की सर्वेश ..सर्वेश के पिताजी राम सिंह मंगोलपुरी में रहते है और रेहड़ी पटरी लगाकर अपने घर को चला रहे थे ..शनीवार रात एक जाईलो कार से कुछ लोग आये वक्त भी रात के करीब साढ़े बारह बजे .. और राम सिंह को जबरन उठाकर किडनेप करके ले जाने लगे और तभी रामसिंह की 16 साल की बेटी सर्वेश जागी और किडनेपर का विरोध किया ..सर्वेश चिल्लाते हुए अपने पिताजी का हाथ पकडकर छुडवाने लगी .. इसी बीच किडनेपर ने लडकी को भी कार में डाल लिया ..तभी शोर होने पर आसपडोस के लोग व वही से गुजर रहा पुलिस कर्मी भी भागकर आये तो किडनेपर को भागना पड़ा पर तीन किडनेपर को पब्लिक ने पकड़ लिया और किडनेपर की जाईलो गाडी में लोगो ने पकड़ ली और सभी को पुलिस के हवाले किया ....
बाईट -  रामसिंह
बाईट - सर्वेश
वी ओ 2
अब लडकी की बहादुरी ने इसके पिताजी को बचा लिया वरना इस अपरहण के बाद रामसिंह का शायद ज़िंदा बच पाना मुश्किल था .. तीनो आरोपियों से अब रिमांड पर लेकर बाकी आरोपियों की तलास है .. दिल्ली पुलिस अब इनका पुरानी रंजिस का मामला बता रही है और उसी नजरिये से जांच कर रही है .........................................

दिल्ली में भी हो सकती है क्लोरीन गैस की बड़ी त्रासदी ..

दिल्ली में भी हो सकती है क्लोरीन गैस की बड़ी त्रासदी .. भोपाल गैस त्रासदी की तरह राजधानी में भी लोग हो सकते है क्लोरीन गैस के शिकार .. बाहरी दिल्ली के झंगोला में दिल्ली जल बोर्ड के रेनिवैल प्लांट में क्लोरीन गैस हुई लिकिज । खेतो में बने प्लांट का आसपास करीब सौ एकड़ फसल पेड़ पौधे तक मुरझाये । लोगो ने खेतो से भागकर बचाई जान । कुछ लोग बेहोश भी हुए । यदि गाव की तरफ गैस जाती तो पूरा गाव होता खाली । यमुना की तरफ खेतो में हुआ रिसाव ..लोगो जल बोर्ड के इस रैनीवैल पर हंगामा । अधिकारियों को बनाया बंधक ..  फसल मुआवजे व् लापरवाह कर्मचारी के खिलाफ कारवाई की मांग ।
वी ओ 1 जल बोर्ड के रैनिवैल प्लांट पर खड़े ये लोग है बाहरी दिल्ली के कंझावला के किसान .. इन्होने गेट बंद कर दिया और अंदर है जल बोर्ड के कर्मचारी व् अधिकारी ... ये गाव यमुना किनारे बसा है और यमुना किनारे रैनिवैल प्लांट लगाकर कई सौ गावो को पानी सप्लाई किया जाता है .. यहा पानी सप्लाई के लिए क्लोरीन गैस के बड़े बड़े ये सिलेंडर लगाये जाते है .. और अचानक ये सिलेंडर लिकिज हो गया .. और इस सिलेंडर से कलोरीन गैस निकली ..गैस इतनी जहरीली की आसपास यमुना किनारे कई सौ एकड़ जमीन में लगी फसल व् सब्जी जलकर मुरझा गई ...पेड़ो व पौधों के पत्ते तक मुरझा गये .. लोगो को आवाज देकर बताया गया की क्लोरीन लिकिज हो गई सभी लोग खेतो से भागे .. लोगो को गैस से सिर चक्कराने लगे तो लोग खेतो से भागे और खेत खाली हो गये .. कुछ लोग बेहोश तक हो गए जिन्हें ट्रेक्टर से लोग तुरंत गाव में उठा ले गये जिन्हें काफी देर में होश आया .. हवा पश्चिम दिशा से थे और पश्चिम में बसा झंगोला गाव बचा गया और पूर्व की तरफ यमुना किनारे की और गैस गई और सैकड़ो एकड़ फसल मुरझा गई ..पेडो के पत्ते मुरझा गये ..सब्जिया बर्बाद हो गई . साथ ही अब ये सब्जिया जहरीली हो गई खाने वालो को हो सकता है बड़ा नुकशान .. यदि हवा पूर्व की दिशा से होती तो पूरा गाव खाली करना पड़ता .. इतनी बड़ी घटना के बाद भी घंटो तक जल बोर्ड के अधिकारी नहीं आये ..इस कारण लोग गुस्से में हो गये ..
बाईट - सतीश कुमार स्थानीय निवासी टेक्स्ट - वाटर सप्लाई ये पानी में यूज करते है ..हमारी फसल में नुकशाना हुआ है ..उसका मुआवजा दे ..वरना हम मर जायेगे ..कोई भी ऑफिसर नहीं आया ..
बाईट - जोनी स्थानीय निवासी टेक्स्ट - सौ से ढेढ़ सौ एकड़ में नुकशान है ..चार पांच बेहोश हुए ट्रेक्टर में लेकर गये ..शुक्र है की हवा यमुना की तरफ की थी वरना आधा गाव तबाह होता ..

वी ओ 2
जल्दी से लीकेज बंद न करने व लापरवाही से लिकिएज होने के कारण स्थनीय लोगो ने इस रैनिवैल प्लांट के गेट को बंद कर जल बोर्ड के कर्मचारियों को अंदर रोक दिया है और बड़े अधिकारियों के आने की मांग कर रहे है .. लोगो को मांग है की लापरवाही कर्मचारी पर कारवाई हो साथ ही उनकी फसलो का मुआवजा मिले ..
बाईट -संजय चौहान  स्थानीय निवासी टेक्स्ट - ढाई सौ तिन सौ किलो में नुकशाना ..आज हमारी भरपाई कौन करेगा ..इस प्लांट को कही अलग जगह बनाया जाए ..
बाईट  - सतविन्द्र सिंह स्थानीय निवासी टेक्स्ट - हम यहा आये लिकिज हो रही थी ..हमारी पूरी फसल तबाह हो गई ..हमने अधिकारी बंद कर रखे है ..हमारी फसल का क्लेम मिले ..जब तक बड़े अधिकारी नहीं आते ..

वी ओ 3
अब जल बोर्ड के कर्मचारी इसे एक दुर्घटना मान रहे है और कह रहे है उसे वजीराबाद से टीम बुलाकर अस्थाई रूप से बंद कर दिया है .. नुकशान तो है ..मान रहे है पत्तिया मुरझा गई है .. साथ ही कह रहे है हम क्या कर सकते है घर में सिलेंडर लिकिज हो जाए तो क्या कर सकते है ...
बाईट - दिल्ली जल बोर्ड जेई text -

नुकशान तो है ..मान रहे है पत्तिया मुरझा गई है .. साथ ही कह रहे है हम क्या कर सकते है घर में सिलेंडर लिकिज हो जाए तो क्या कर सकते है ...वी ओ 4
अब जरूरत है एसी खतरनाक गैस का प्लांट गाव से दूर हो साथ ही ऐसे इंतजाम हो की गैस लीक हो तो तुरंत उस पर काबू पाए जा सके ..और लीक हो भी जाए तो उसके इन्तजाम ऐसे हो की बड़ी तबाही न हो .... अब यहा किसानो को फसल का बड़ा नुकशान हुआ है और सरकार की तरफ से कोई मुआवजे आदि की घोषणा नहीं की गई है ...



अनिल अत्री  दिल्ली ...