Monday, November 9, 2009

6 लाख रूपए लेकर फरार हो गए...चार गोलियां व्यापारी के ड्राईवर को लगी



video
video click here.........

दिल्ली के मॉडल टाऊन इलाके में आज सुबह एक कारोबारी के दफ्त्तर के ठीक सामने मोटर साईकल सवारों ने उस वक्त दनादन गोलियां चला दी जब वह अपनी पजेरों गाड़ी से निचे उत्तर रहा था...और 6 लाख रूपए लेकर फरार हो गए...चार गोलियां व्यापारी के ड्राईवर को लगी जिसे गंबीर हालत में हिंदूराव अस्पताल ले जाया गया है...हमलावरों ने करीब आठ दस गोलिया चलायी...लेकिन व्यापारी सत्य परकाश गुप्ता की किस्मत अच्छी थी की वह बच गया..व्यापरी सिविल लाइन स्थित अपने घर से मॉडल टाऊन सी.सी.कोलोनी अपनी ऑफिस आया था..उस समय उसके साथ दो सूटकेश थे..एक को लेकर वह ऑफिस में आ गया जबकि दूसरा सूटकेश ड्राईवर के हाथ में था..जैसे ही ड्राईवर बहार निकला दनाधन गोलिया चलानी शुरू हो गयी...और हमलावर एक सूटकेश लेकर फरार हो गए.
देश की राजधानी दिल्ली में आप की जान व माल नही हें सुरक्षित ... लोगो में हें खोफ .. हर सडक पर हर मोड़ हें पर खतरा .. अपनी मेहनत का पेशा भी आपकी जान भी ले सकता हें .... ऐसा ही हुआ आज एक बार फिर जहा एक शख्श को खानी पड़ी छे गोलियाँ और जुझ रहा हें जिन्दगी और मोत के बीच......... यहा जाच कर रही ये क्राइम ब्रांच की टीम यही बता रही हें की यहा आज फिर ऐसी ही खतरनाक वारदात हुई हें ... ये जगह हें उत्तरी पश्चिमी दिल्ली के मॉडल टाऊन थाना एरिया में राणा परताप बाग़ .. ये दफ्तर हें सत्य प्रकाश नाम के गवर्मेंट कांट्रेक्टर का .. आज सुबह दस बजे के आस पास जब सत्य्प्रकास अपने ऑफिस इसी पजेरो गाडी से आया और पेशो से भरी एक अटेची लेकर में रोड पर बने इस ऑफिस में चला गया ... पीछे जब ड्राईवर दूसरी अटेची लेकर उतरा जिसमे छे लाख थे तो अचानक चार लडके दो काले रंग की पल्सर बाइकों पर आये जिनके हाथो में रिवाल्वर थी .. अटेची छीननी चाहि विरोध करने पर ड्राईवर केशव के लगातार छे गोलियाँ मार दी ................. और अटेची लेकर फरार हो गये
baite --सत्यप्रकाश ( कारोबारी )
Baite Text - ( में सिविल लाइन से अपने घर से यहाँ दफ्त्तर आया था की चार मोटर सैकल सवारों ने अंधाधुन गोलिया चलानी शुरू कर दी..में और मेरा बेटा ऑफिस में आ चुके थे..गोलिया मेरे ड्राईवर को लगी है...वे चार लडके थे और चरों के हाथ में पिस्टल थी...
वी ओ २
तुंरत पुलिस को सुचना दी गई .. अब पुलिस अपनी जाच में जुटी. लेकिन हाथ कुछ नही .. लूटेरों का कोई सुराग तक नही ... क्राइम टीम अपनी जाच में जुटी हें .. फिंगर प्रिंट्स एक्सपर्ट्स अपनी जाच में जुटे हें .. पुलिस के पास अब सिर्फ वही पुराना ब्यान हें की हें जाच कर रहे हें केस अभी जाच में हें हम ज्यादा क्लू नही दे सकते .......
बाईट - एन एस बुन्देला ( D.C.P. उत्तरी पश्चिमी दिल्ली ) Baite Text - गाडी पार्क करने के बाद चार लडके आये और केशव ड्राईवर से अटेची छीनने लगे विरोध करने पर गोलिया मार दी .. रोबरी का केश दर्ज कर लिया हें ... हमारी टीम जाच में लगी हें ......
v.o 3
छे गोलिया लगने के तुरंत बाद केशव ड्राईवर को बाड़ा हिन्दू राव अस्पताल मन भर्ती कराया गया हें जहा उसकी हालत गंभीर बनी हुई हें .... इस घटना ने दिल्ली की कानून व्यवस्था पर एक बार फिर सवालिया निशाँ लगा दिया हें ............




1 comment:

  1. कानून व्‍यवस्‍था की हालत बहुत पतली हो रही है। इसे काबू में कैसे किया जाए, इस पर समाज के सभी तबकों से राय लेकर विमर्श कर अमल किया जाना चाहिए।

    ReplyDelete