Wednesday, September 16, 2009

बुरारी ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी पर परेशान ऑटो चालक

video
विडियो देखने के लिए प्ले निशान पर क्लीक करें ॥

एंकर - आज बुरारी ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी पर परेशान ऑटो , केब , रेडियो टेक्सी , स्कूल वेन चालकों ने जमकर हंगामा किया ... ये लोग कई दिन से अथॉरिटी में काम ना होने से परेशान थे अथॉरिटी में कंप्यूटर खराब होने से तीन दिन से काम रूका हुआ हें .. इस से पहले ये काम बारह अगस्त से सताईस अगस्त तक बंद रहा रहा ........
वी ओ १ दिल्ली सरकार के खिलाफ नारे लगाते इन लोगो का गुस्सा सातवे आसमान पर हें ... ये लोग परिवहन विभाग व परिवहन मंत्री के खिलाफ नारेबाजी पर लगे हुए हें ... ये वे लोग हें जो कई दिनों से परेशान हें और इस अथॉरिटी के चक्कर काट रहे हें इस अथॉरिटी के कंप्यूटर खराब होने से तीन दिन से काम रूका हुआ हें .. इस से पहले ये काम बारह अगस्त से सताईस अगस्त तक बंद रहा रहा ........ ये लोग दिल्ली के कोने कोने से आए हें सुबह यहा आने पर पता चलता हें की यहा कंप्यूटर खराब हें .. इन गरीब लोगो की उस दिन की रोजी रोटी छीन जाती हें .. गरीब ऑटो चालक अपनी दिहाडी छोड़कर केसे यहा कई दिनों तक चक्कर काट सकता हें .. इनकी तो रोजी रोटी ही बद हो जाती हें ... इन लोगो की माने तो यहा महीने में बीस दिन कंप्यूटर खराब रहते हें ये लोग इन्हें बदलने के लिए लिखित में भी शिकायत कर चुके हें की ये कम्पुटर पन्द्रह साल पुराने हें इन्हें बदला जाए पर कोई कारवाई नही ...
बाईट - विनोद भाटिया ( हाथ में नोटिस लिए हुए .. चेक की शर्ट )
एम् एस मंसूरी ( टेक्सी यूनियन नेता )
वी ओ २ यहा लोग नॉएडा , साउथ एक्स , द्वारका , नरेला , लक्ष्मी नगर जेसे अनेक इलाको से आए हें ... यहा इन लोगो की माने तो यहा हजारो लोग हर रोज आते हें पर यहा ना तो पानी हें ना कोई शोचालय यहा सुविधा नाम की कोई चीज नही हें .... ये लोग इन बुरारी अथॉरिटी को दिल्ली पर कलक मानते हें ... आप खुद देख सकते हें झा लोगो की खिड़कियों पर लेने लगती हें वहा बारिस के पाच दिन बाद भी पानी भरा पडा हें ......
बाईट ..... Bagnath Misra ( in uniform )
वी ओ ३ यहा बडी बडी लाइने ल्हती थी पर आज ये जगह सुनसान हें ... जब अधिकारियो से इस बारे में बात करनी चाहि तो गेट बद कर दिए गए ॥ और बाद में गार्ड ने HAMARI टीम को khaa की साहब तो चले गए ॥
बाईट .. गार्ड द्वारा कहते हुए विसुअल .. अम्बिय्स में बाईट .. ( गार्ड वर्दी में हें )
वी ओ ४ मामला चाहे कंप्यूटर खराब का हो या ना हो पर ये गरीब जरुर परेशान हें ... ये गरीब नोकरशाहो से तंग आ चुके हें .. सरकार नोकरशाहो को सुधारे या कम्पुटर सुधारे व्यवस्था तो सरकार को ही करनी होगी ..
अनिल अत्तरी

No comments:

Post a Comment