Tuesday, June 1, 2010

कोमनवेल्थ के नाम पर पूरी दिल्ली खुद रही हें .. जगह जगह सड़के खुदी हुई हें ..काम गुणवता कितनी हें वो सब अभी से साफ नजर आने लगा ..

कोमनवेल्थ के नाम पर पूरी दिल्ली खुद रही हें .. जगह जगह सड़के खुदी हुई हें ..काम गुणवता कितनी हें वो सब अभी से साफ नजर आने लगा ..बिच रोड सडकें अचानक बेठ जाती हें ..कही पी डब्लू डी .कही जल बोर्ड कही एम् सी डी इन हादसों की जिम्मेदार निकलती हें पर इन हादसों का शिकार हर बार आम आदमी होता हें ..पिछले सप्ताह लक्ष्मी नगर में सडक बेठी तो बीती रात उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में हरदेव नगर की में सडक अचानक बेठ गई और हो गया करीब पन्द्रह फूट गहरा करीब तिस फूट चोडा गड्डा और एक ट्रक इसमें बेठ गयी ..जो एक रिक्सा पर जा गिरा और एक बड़ा हादसा टल गया ..सुबह पूरे एरिया का ये रास्ता बंद रहा ..इस सडक के दोनों और जल बोर्ड की बड़ी पाइप लाइन का काम जारी हें ..और इस लाइन को निचे से गुजारने की कोशिश की जा रही हें ..एरिया के लोगों का आरोप हें की जल बोर्ड की इस लाइन से ही सब कुछ हुआ हें ... आप खुद देखिये ये गड्डा ...कितना चोडा व कितना लम्बा हें ....इसके निचे कोई पुलिया भी नही ..पहले भी कोई पुराएं टाइम में यहा पुलिया नही थी ..फीर भी ये सडक पन्द्रह फूट निचे केसे धस गई ....इसमें बेठ गया था ये ट्रक और जा गिरा था इस रिक्सा पर पर रिक्सा वाला खुद्किश्मत था की दूर जा गिरा और जान बच गई ...ये सब हो रहा था बीती रात के अन्देरे में ...पर रात को ये सोच की कोई छोटा गड्डा होगा पन्द्रह फीट का गदा रोड पर केसे हो सकता हें ये सोच अधिकारी भी नही आये सिर्फ हमेशा देर से आने वाली पुलिस ने यहा गरूर अपनी ड्यूटी निभाई और इस सडक के सभी व्हीकल सुबह तक बंद रखे ..वरना कोई और भी बड़ा हादसा हो सकता था .. बाईट - योगेश नागपाल ( स्थानीय निवासी --पिली टी शर्ट में ) टेक्स्ट - उस समय ज्यादा लोग नही थे ...पन्द्रह बीस भी मर सकते थे ..कम्पन तो पहले भी महसूस होते थे पर ये अंदेशा नही था ..बीस से तिस फूट का गड्डा हें अन्दर मिटटी पड़ी हें पचास फूट भी हो सकता हें .... यदि लोगों की माने तो ये जल बोर्ड की वजह से हुआ ..यहाँ हेदरपुर से वजीराबाद के लिए एक ये बड़ी चोडी पानी की लाइन जा रही हें इस लाइन को इस सडक को भी पार करवाना था ..यहा जेक के जरिये ये लाइन इस रोड के निचे से ध्क्काई जा रही थी और रोड निचे से खाली हो गया ..जल बोर्ड ने इस लाइन के काम के लिए इस रोड के निचे से चार ये समर्सिंग ट्युबल की पाइप भी गुजार रखी हें और इस कारण ये रोड बेठ गया . बाईट - विकास - ( स्थानीय निवासी व ट्रक का मालिक च्स्मदिद भी ) टेक्स्ट - दो गाड़ियों में से एक हमारी थी वो पीछे से बेठ गई ...रिक्सा वाला चपेट में आ गया ..जल बोर्ड काम चल रहा हें कोई देख रेख नही ..पानी बहता रहता हें ..कोई सेफ्टी संकेत नही था .......दोनों साइड से जेक द्वारा पाइप फसाए जा रहे हें ..-- बुराड़ी थाना पुलिस अब इस मामले की जाच कर रही हें की मामला किसके खिलाफ दर्ज किया जाए ..इसमें जल बोर्ड जिम्मेदार हें या लाइन डालने वाला ठेकेदार पर ये घटना दिल्ली सरकार के ऊपर प्रशन जरूर खड़े करती हें .....की सरकारी कामों में कितनी ज्यादा लापरवाही बार बार आ रही हें .और अब अपनी लापरवाही को छुपाने के लिए और नाक बचाने के लिए अब इसे आनन् फानन में भरा जा रहा हें ...मगर इतना बड़ा गड्डा हुआ केसे इसकी जाच की दिशा में कोई ख़ास कदम नही उठाया जा रहा .......... Anil Attri ........
video

2 comments:

  1. बहुत ही सार्थक प्रस्तुती लेकिन इन भैसों पर कोई असर नहीं होने वाला ,ये तो अपने आप में मस्त हैं और यही दुर्भाग्य है दिल्ली वालों का |

    ReplyDelete