Wednesday, January 6, 2010

धू-धू कर चलती इस कार में आग किसी हादसे के कारन नहीं लगी है..Fraud case in Manolpuri Outer Distt Delhi

video

लोकेशन-मंगोल पूरी Delhi
एंकर-- दिल्ली के मंगोल पूरी इलाके में देर रात चिट फंड कंपनी चलने वाले एक युवक के ऑफिस पर सैकड़ों लोगों ने पथराव उसकी गाड़ी और स्कूटर मोटरसाईकल में आग लगा दी..इन लोगों का आरोप है की राकेश मिश्रा नाम एक इस युवक ने ६ महीने में उनकी रकम तीन गुना करने का झांसा देकर लोगों के करोड़ों रुँपये हड़प लिए... वी-ओ-१ धू-धू कर चलती इस कार में आग किसी हादसे के कारन नहीं लगी है..बल्कि यह कार मंगोल पूरी इलाके में चिट फंड कम्पनी चलने वाले एक ऐसे युवक की ही जिसने केवल 20 साल की उम्र में लोगों के 20 करोड़ रुपये से ज्याद ठग लिए...स्थानीय लोगों की माने तो राकेश मिश्रा नाम का युवक मंगोल पूरी में 4 साल से भारतीयम मनी नाम से एक कंपनी चलता है और लोगों को एक साल में 50 हज़ार रुपये के एक लाख 56 हज़ार रूपए वापस करता है...और जब कई लोगों को उनकी पैसे नहीं मिले तो इन्होने पुलिस को इसकी शिकायत की पुलिस से भी जब ये संतुष्ट नहीं हुए तो आज सैकंडों लोगों ने राकेश के ऑफिस पर धावा बोल दिया...उसके दफ्तर पर पथराव किया और उसके बहार खड़ी स्टीम कार और एक मोटर साईकल और स्कूटर में आग लगा दी...लोगों की शिकायत है की राकेश ने उनके साथ ठगी की है...जबकि राकेश के परिजनों का कहना है की वह चार साल से मनी सर्कुलाशन कर रहा है और किसी को शिकायत का मोका नहीं दिया लेकिन अब जब लोगों ने उसे पैसे देने बंद कर दिए तो वह आगे नहीं दे पा रहा है... इस घटना के बाद पुलिस ने राकेश को गिरफ्तार कर लिया है.... बाईट----कविता मिश्रा ( राकेश की बहन ) ( वह सबको पैसा दे रहा था...सब ठीक था..चार साल से..अब उसके पास पैसा नहीं है तो उसने हाथ खड़े कर दिए..अब डेढ़ करोड़ रूपया पब्लिक का देना है..और हमें भी लोगों से पैसा लेना है..90 प्रतिशत लोगों को पैसा दे चुके है केवल 10 प्रतिशत लोगों को देना है..हमारी स्कीम थी की आपको 50 हज़ार रुँपये लगाने पर एक साल में किस्तों में एक लाख 56 हज़ार रुँपये देंग...) १--सुरेश कुमार (शिकायतकर्ता ) ( में तीन महीने पहले जुदा हूँ..मुझे एक भी पैसा नहीं मिला..ये कह रहे है सबको पैसा दिया लेकिन मुझे तो एक भी पैसा नहीं मिला..इन्होने मुझे ६ महीने में डबल रकम करने का वडा किया था लें अब में आधे लेने को भी तैयार हूँ..इन्होने मुझे कई स्कीम समझाई..दुनिया को पागल बना दिया...) २--राजन कुमार (शिकायतकर्ता ) चश्में वाला ( पहले इन्होने कहीं और ऑफिस बनाया था..पहे 15 से 20 दिन में पैसे डबल करता था..कई लोगों को पैसे दिए भी...) वी-ओ-२ खुद राकेश के परिजनों का कहना है की राकेश लोगों से इन्वेस्ट करता और उनकी रकम एक साल में 50 हज़ार रुपये के एक लाख 56हज़ार रुपये देता था...वह आखिर कोण सा ऐसा बिजिनेस था जिससे वह लोगों की रकम केवल एक साल में तीन गुना से ज्यादा कर देता था..इस सवाल का न तो लोगों के पास जबाब था और न राकेश के परिजओंओ के पास...इस घट्न ने साफ़ कर दिया है के देश के दूर दराज इलाकों में ही नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली में भी कई कई जडेजा है....न यहाँ ठगों की कमी है और न ऐसे लालची लोगों की जो सब कुछ जानते हुए भी लालच में जाते है...पुलिस भी ऐसी शिकायतों को जब तक गम्बिरता से नहीं लेती जब तक की लोग सडकों पर न उतर आयें....और इस तरह की आग जानी न करें...इस घट्न के बाद मंगोल पूरी पुलिस की आँख खुली और वह राकेश के खिलाफ आयी शिकायतों की जाँच में जुटी है...आब तक मंगोल पूरी ओस प्रशांत विहार ठाणे में ही करीब तीन दर्जन लोग राकेश के खिलाफ अपने साथ हुए ठगी की शिकायत कर चुकें है...और कई मामले भी पुलिस में दर्ज हो चुकें है...बावजूद इसके लोगों को लगता है की पुलिस राकेश के पैसे के प्रभाव में है और उसके खिलाफ सख्त करवाई नहीं कर रही है...लिहाज़ा मंगलवार देर रात इसके शिकार लोगों ने उसके दफ्तर पर धावा बोल दिया...पुलिस ने देर रात राकेश और उसके पिता व भाई को मेडिकल जाँच के बाद गिरफ्तार कर लिया है... ANIL ATTRI DELHI IBN7

No comments:

Post a Comment