Monday, November 23, 2009

दो फ्रूट कंपनी के कर्चारी लूटेरों की गोलियों का शिकार हो गए..

video
video click on play..
एंकर-- दो फ्रूट कंपनी के कर्चारी लूटेरों की गोलियों का शिकार हो गए..आजाद पुर फ्रूट मंडी में लक्ष्मी फ्रूट कंपनी के दो कर्मचारी रविन्द्र और बद्री आलम एक बैग अपने स्कूटर की डिक्की में रख रहे थे की बाईक पर सवार हेल्मट पहने दो युवकों ने बैग छिनने की कोशिश की विरोध करने पर उन पर अंधाधुन गोलियां दाग दी......दोनों व्यापारियों को प्रीतम पूरा स्थित मेक्स हॉस्पिटल ले जाया गया जहाँ एक मोत हो गयी...इससे गुस्साए व्यापारियों ने हॉस्पिटल और मंडी के मुख्य मार्ग पर जमकर हंगाम किया..जीटी रोड को जाम कर दिया..इनका कहना है की आजाद पुर मंडी में आये दिन हो रही इस तरह की घटनाएं पुलिस की मिलीभगत से हो रही है..अब इस व्यापारी बर्दास्त नहीं करेंगे..व्यापरियों ने मंदी में हड़ताल पर जाने की भी धमकी दे है...
वी-ओ-१
हर हादसे के बाद होता है हंगामा...आजाद पुर मंडी के सामने भी यही हो रहा है...जिस दबाने के लिए पुलिस को लाठी तक भंज रही है ...मामला आजाद पुर फ्रूट मंडी में आये दिन हो रही लूट पट की थामने का नाम नहीं ले रही है..आज सुबह फिर एक कंपनी के दो कर्चारी रविन्द्र तेजपाल और बद्री आलम एक बेग अपने स्कूटर में रख रहे थे की बाईक सवार दो लोग आये और उनसे बैग छिनने की कोशिस की...उन्होंने विरोध किया और उन पर अंधाधुन गोलियां दाग दी..जिसमें दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें प्रीतम पूरा के मेक्स हॉस्पिटल ले जाया गया..इनमें बद्री आलम की मोत हो गयी...हेल्मट पहने दोनों हमलावर बेग लेकर फरार हो गए..बेग में केवल बहीखाता था...लूटेरे रुपयों से भरा बैग समझकर वह ले उड़े...
बाईट---ऐ.के. सिंह ( अतिरिक्त डीसीपी, नोर्थ वेस्ट )
वी-ओ-२
आजाद पुर मंडी में इस तरह की घटनाएं नयी नहीं है...लेकिन आज फिर जब यह हादसा हुआ तो व्यापारियों के सब्र का बांध टूट गया..और उन्होंने आजाद पुर मंडी के सामने जीटी रोड और प्रीतम पुर स्थित मेक्स हॉस्पिटल जमकर हंगामा किया...इस घटना से गुस्साए मंडी के व्यापारियों और कर्चारियों ने हॉस्पिटल और मंडी दोनों जगह जमकर नारेबाजी की..पुलिस पर आरोप लगाया की यह सब पुलिस की मिलीभगत से हो रहा है...इस तरह की घटनाओं को रोकने के बजाये मामले को रफा दफा करने का प्रयाश कर रही है....
बाईट---राजन ( मर्तक कर्चारी का सहयोगी )
वी-ओ-३
आज़ाद पुर मंडी असामजिक तत्वों की शरण स्थली बनी हुयी है...चाहे वह मंडी के कर्चारी हो या बहार से आने वाले व्यापारी और किसान...कोइ भी सुरक्षति नहीं है...कभी कोइ चाकू बजी का शिकार होता है तो कभी कोइ ऐसे शातिर लूटेरों का...इस तरह की घटनाओं के बाद व्यापारियों ने मंडी में हड़ताल पर जाने की भी धमकी दी है...जाहिर है व्यापारियों का विश्वाश पुलिस पर से उठ गया है...दोनों व्यापरी कई सालों से लक्ष्मी फ्रूट कंपनी में काम करते थे...पुलिस हलाकि अभी जाँच करने की बात कह रही है लेकिन उसका शक है की लूटेरों को लग रहा था की रविन्द्र और बद्री जो बेग लेकर जा रहे है उनमें रुपयें है...जिस तरह से हमलावरों ने गोलियां बरसाई उससे साफ़ है की वे पेशेवर लूटेरे थे...इस घट्न ने पुलिस के हाथ पवन फुला दियें है...उत्तरी और उत्तर पश्चिमी दिल्ली में इसी साल दर्जनों लूट की वारदातें हो चुकी है लेकिन पुलिस अभी तक गिने चुने मामलों को ही सुलझा पाई है...ये लूटेरे पुलिस के लिए चुनोती बने हुए है तो जनता की लिए गंभीर खतरा---
ANIL KUMAR ATTRI DELHI............

No comments:

Post a Comment